+2एग्जाम : जूता-मोजा पहनकर परीक्षा में बैठ सकेंगे छात्र - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Sunday, January 31

+2एग्जाम : जूता-मोजा पहनकर परीक्षा में बैठ सकेंगे छात्र

 

इंटरमीडिएट परीक्षा 2021: नया आदेश जारी, अब जूता-मोजा पहनकर परीक्षा दे सकेंगे छात्र

हिंदुस्तान मीडिया/पटना/बिहार

कड़ाके की ठंडी के बीच इंटरमीडिएट परीक्षा में शामिल होने वाले परीक्षार्थियों को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने बड़ी राहत दी है। कोरोना संकट के बीच 01 फरवरी से शुरू होने वाली इंटरमीडिएट परीक्षा (Bihar Board 12th Exam) को लेकर  खासी तैयारी की जा रही है। इस बीच कड़ाके की ठंड को देखते हुए बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) ने बड़ा फैसला लेते छात्रों को जूता-मोजा पहनकर परीक्षा केंद्र में जाने की अनुमति दे दी है। इस फैसले से साफ है कि अब छात्र-छात्राएं जूता-मोजा पहनकर 12वीं की परीक्षा दे सकेंगे। जानकारी के मुताबिक, बोर्ड की ओर से परीक्षा शुरू होने से महज कुछ घंटे पहले ही इस संबंध एक पत्र जारी किया है। बोर्ड की ओर से इस आशय का आदेश जारी होने से परीक्षार्थियों ने राहत की सांस ली है।

परीक्षा से ठीक एक दिन पहले लिया गया फैसला

इस बार बिहार बोर्ड 12वीं की परीक्षा एक फरवरी से 13 फरवरी तक है। इस बीच कड़ाके की सर्दी के मद्देनजर बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से पत्र जारी किया गया। इसमें कहा गया कि शीतलहर के कारण परीक्षार्थियों को जूता-मोजा पहनकर परीक्षा केंद्र में आने की और एग्जाम में शामिल होने की अनुमति है। इससे पहले बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (BSEB) की ओर से 12वीं की परीक्षा को कई जरूरी नियमों और दिशानिर्देशों की जानकारी दी गई।

Bihar Board ने बताए परीक्षा के नियम, नहीं मानने पर भुगतनी पड़ सकती है सजा

बिहार इंटरमीडिएट परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं को परीक्षा शुरू होने से 10 मिनट पहले परीक्षा केंद्र में प्रवेश करना आवश्यक होगा। देर से आने वाले परीक्षार्थी को उस पाली की परीक्षा में सम्मिलित होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। परीक्षार्थी को इस बार 15 मिनट का अतिरिक्त समय क्वेश्चन पेपर, आंसर शीट ओएमआर को पढ़ने और समझने के लिए दिया जाएगा। 

परीक्षा के दौरान मास्क पहना  हुआ अनिवार्य

सभी परीक्षार्थियों को कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए मास्क लगाकर और सैनिटाइज कर ही परीक्षा केंद्र में आना होगा। इसके अलावा परीक्षा केंद्र में खांसते या छिंकते समय परीक्षार्थी को मुंह पर रूमाल रखने का भी निर्देश दिया गया है।

एडमिट कार्ड में कोई कमी रहने पर भी परीक्षा में शामिल होने की अनुमति

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के अध्यक्ष ने बताया कि समिति की ओर से जारी किए गए एडमिट कार्ड में अगर किसी विद्यार्थी के फोटो की जगह किसी दूसरे परीक्षार्थी की फोटो लगा हो या कोई मिस प्रिंट हो। उस स्थिति में परीक्षार्थी के हित को ध्यान में रखते हुए उसे परीक्षा में सम्मिलित कराया जाएगा लेकिन उसके पहले उस का भौतिक सत्यापन किया जाना आवश्यक होगा। ऐसे परीक्षार्थी को भौतिक सत्यापन के लिए आधार कार्ड, वोटर आई कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट या फोटोयुक्त बैंक पासबुक में से किसी एक पहचान पत्र को लेकर परीक्षा केंद्र आने का निर्देश दिया गया है।

दो शिफ्ट में होंगे Exam, 13 फरवरी को होंगे संपन्न

इसके अलावा यदि किसी परीक्षार्थी का एडमिट कार्ड खो गया हो या घर पर छूट गया हो तो ऐसी स्थिति में परीक्षा केंद्र पर मौजूद स्कैन्ड फोटो से उसकी पहचान कर उसे परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जा सकती है। लेकिन किसी भी परीक्षार्थी को उस वक्त तक परीक्षा केंद्र से नहीं निकलने दिया जाएगा जब तक उस विषय की परीक्षा खत्म नहीं हो जाती। परीक्षा दो पाली में होगी पहली पाली सुबह 9:30 बजे से शुरू होगी और दूसरी पाली दोपहर 1:45 से शुरू होगी। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की ओर से कहा गया है कि कदाचार मुक्त परीक्षा संपन्न कराने के लिए चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है।

No comments:

Post a Comment