मोतिहारी में ठेकेदार रंजीत सिंह की गोली मारकर हत्या - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Thursday, December 31

मोतिहारी में ठेकेदार रंजीत सिंह की गोली मारकर हत्या

 

हत्याकांड : मोतिहारी में अपराधियों ने ठेकेदार को मारी गोली, हुई मौत

हिंदुस्तान मीडिया/मोतिहारी/बिहार

पूर्वी चंंपारण जिले में अपराधी बेलगाम हो गये हैं। ग्रामीण क्षेत्र हो या शहरी इलाका बेखौफ बदमाश गाहे- बेगाहे लूट एवं हत्या की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। ताजा घटना जिला मुख्यालय मोतिहारी के अतिव्यस्त गायत्री नगर मोहल्ला में घटित हुई है। यहां हथियारबंद अपराधियों ने गुरुवार की शाम एक ठेकेदार की गोली मार हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी आराम से फरार हो गये। मृतक शहर के अगरवा मोहल्ला निवासी रंजीत सिंह बताये गये हैं। वे मूल रुप से शहर से सटे रघुनाथपुर ओपी क्षेत्र के बालगंगा गांव के रहने वाले थे। ठेकेदार की हत्या के बाद से मोतिहारी नगर के लोग दहशत में हैं।

गोली चलने की सूचना मिलते ही घटना स्थल पर पहुंचे एसपी

घटना की सूचना मिलते ही जिले के पुलिस अधीक्षक नवीन चन्द्र झा मौके पर पहुंच गए और अपने स्तर से मामले की छानबीन शुरू कर दी। मिल रही जानकारी के अनुसार ठेकेदार रंजीत सिंह गुरुवार की देर शाम शहर के मीना बाजार से अगरवा स्थित अपने आवास पर लौट रहे थे। उसी दौरान मोतीझील के किनारे गायत्री नगर पक्का घाट के समीप बाइक सवार अपराधियों ने ओवरटेक कर उन्हें रोक दिया और उन पर गोली चला दी। एक गोली पीछे से ठेकेदार के सिर में और दूसरी गोली उनके सीने में लगी। गोली मारने के बाद अपराधी मौके से भाग निकले। स्थानीय लोगों ने आनन-फानन में ठेकेदार को सदर अस्पताल लाया, जहां पहुंचते ही गंभीर रुप से घायल ठेकेदार ने दम तोड़ दिया।

अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए सदर डीएसपी के नेतृत्व में एसआईटी गठित

इस हत्याकांड को कई मामलों से जोड़कर देखा जा रहा है। प्रथमदृष्टया पुलिस हत्या का कारण ठेकेदारी का विवाद बता रही है। पुलिस सूत्रों की अगर माने तो मृतक ठेकेदार रंजीत सिंह का संबंध जेल में बंद कुख्यात लक्ष्मी सिंह से भी है। पुलिस इसकी भी जांच कर रही है।  पुलिस अधीक्षक नवीनचंद्र झा के मुताबिक घटना की जांच पड़ताल की जा रही है। अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए सदर डीएसपी अरुण कुमार गुप्ता के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है। पुलिस टीम लगातार छापेमारी कर रही है। इस घटना को अंजाम देनेवाले अपराधी बहुत जल्द सल्लाखों के पीछे नजर आयेंगे।

रिपोर्ट : मधुरेश प्रियदर्शी


No comments:

Post a Comment