केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान का हुआ निधन - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Thursday, October 8

केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान का हुआ निधन

नहीं रहे केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान, चिराग पासवान ने किया भावुक ट्वीट

हिंदुस्तान मीडिया/नई दिल्ली

बिहार विधानसभा के चुनावी दंगल के बीच देश की राजधानी से एक पीड़ादायक खबर मिल रही है। जी हां, केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान का गुरुवार को निधन हो गया है। 74 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली। इस बात की जानकारी उनके बेटे व लोजपा के अध्यक्ष चिराग पासवान ने दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा, 'पापा....अब आप इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं।'

लंबे समय से बीमार चल रहे थे पासवान

रामविलास पासवान लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उन्होंने राजनीति में एक लंबा समय बिताया है। रामविलास पासवान वीपी सिंह, एचडी देवेगौड़ा, इंद्रकुमार गुजराल, अटल बिहारी वाजपेयी, मनमोहन सिंह और नरेंद्र मोदी इन सभी प्रधानमंत्रियों के ‘कैबिनेट’ में अपनी जगह बनाने वाले शायद एकमात्र व्यक्ति थे। 

 1969 में पहली बार पहुंचे थे बिहार विधानसभा

राजनीति की नब्ज पकड़ने वाले रामविलास पासवान पहली बार 1969 में एक आरक्षित निर्वाचन क्षेत्र से संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी के सदस्य के रूप में बिहार विधानसभा पहुंचे थे। 1974 में राज नारायण और जेपी के प्रबल अनुयायी के रूप में लोकदल के महासचिव बने थे। वे व्यक्तिगत रूप से राज नारायण, कर्पूरी ठाकुर और सत्येंद्र नारायण सिन्हा जैसे आपातकाल के प्रमुख नेताओं के करीबी रहे हैं। रामविलास पासवान के निधन से देश की दलित राजनीति को गहरा धक्का लगा है। उनके निधन पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी, केन्द्रीय मंत्री क्रमशः राजनाथ सिंह, नीतीन गडकरी, गिरिराज सिंह, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ एवं बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने शोक व्यक्त किया है।

No comments:

Post a Comment