नहीं रहे सीपीआई के राज्य सचिव कॉ.सत्यनारायण सिंह, कोरोना से हुई मौत - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Monday, August 3

नहीं रहे सीपीआई के राज्य सचिव कॉ.सत्यनारायण सिंह, कोरोना से हुई मौत

कोरोना से जंग हार गये जन आंदोलनों के झंडाबरदार कॉ.सत्यनारायण सिंह, पटना के एम्स में हुआ निधन
हिंदुस्तान मीडिया/पटना/बिहार
देश के साथ ही बिहार में कोरोना का कहर लगातार जारी है। कोरोना के चपेट में आ जाने से सीपीआई के राज्य सचिव कॉमरेड सत्यनारायण सिंह का रविवार की देर रात राजधानी पटना के एम्स अस्पताल में निधन हो गया। 78 वर्षीय सत्यनारायण सिंह मूलरूप से बिहार के खगड़िया जिले के रहने वाले थे। उन्होंने वर्ष 1990 से 2000 तक खगड़िया जिले के चौथम विधानसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व भी किया था। सीपीआई की ओर से पार्टी नेता इंदु भूषण ने बताया कि वे कोरोना पॉजिटिव हो गये थे। पहले उनका इलाज रूबन हॉस्टिपल में कराया गया। लेकिन, सुधार नहीं होने पर 28 जुलाई को उन्हें पटना एम्स में भर्ती कराया गया था। रविवार की देर रात इलाज के दौरान ही उन्होंने दम तोड़ दिया।
वाम एकता के पैरोकार थे सत्यनारायण सिंह
सीपीआई के राज्य सचिव सत्यनारायण सिंह शुरू से वाम एकता के पैरोकार थे। बिहार में वामदलों के बीच एकजुटता बनाने के लिए उन्होंने आजीवन प्रयास भी किया।  पूर्व के चौथम (अब बेलदौर) विधानसभा क्षेत्र से वे दो बार विधायक चुने गये थे। वे वर्ष 1968 में सीपीआई में शामिल हुए थे। इसके पहले वे मुंगेर में व्याख्याता के पद पर कार्यरत थे।
 मुखिया-प्रमुख से सीपीआई के राज्य सचिव तक का तय किया सफर 
पूर्व विधायक सत्यनारायण सिंह एक जमीनी नेता थे। सीपीआई में उन्होंने एक होलटाइमर कार्यकर्ता के रूप में काम शुरू किया। वर्ष 1977 से 90 तक वे सीपीआई के खगड़िया जिला के मंत्री रहे। इससे पहले वे 22 वर्षों तक अपने पंचायत कैथी के मुखिया भी रहे। वे अपने गृह प्रखंड चौथम के प्रमुख भी रहे थे। कई किसान और मजदूर आंदोलनों में उन्होंने बढ़-चढ़कर भाग लिया था। 
शोक संवेदनाओं का लगा तांता
सीपीआई के राज्य सचिव कॉ.सत्यनारायण सिंह के निधन पर विभिन्न दलों के नेताओं ने गहरा शोक व्यक्त किया है। सीपीआई के राज्य नेता कॉ.रामबाबू कुमार ने उनके निधन को पार्टी और बिहार के लिए अपूरणीय क्षति बतलाया है। भाकपा माले के राज्य सचिव कुणाल ने अपने शोक संदेश में कहा कि सत्यनारायण सिंह के निधन से बिहार में जन आंदोलनों के एक युग का अंत हो गया है। वहीं माकपा के राज्य सचिव अवधेश कुमार ने भी उनके निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हुए इसे वाम आंदोलन के लिए बड़ा नुकसान बतलाया। 
सीपीआई नेता कॉ.सत्यनारायण सिंह का निधन मेरे लिए व्यक्तिगत क्षति : शालिनी
मोतिहारी के पूर्व सांसद कमला मिश्र मधुकर के परिजनों ने भी सीपीआई नेता सत्यनारायण सिंह के निधन पर संवेदना व्यक्त की है। पूर्व सांसद की सुपुत्री व जदयू नेत्री शालिनी मिश्रा ने आज एक शोक संदेश जारी कर कहा कि उनके निधन से मुझे व्यक्तिगत क्षति हुई है। जदयू नेत्री ने कहा कि वे मेरे अभिभावक के जैसे थे। सीपीआई में रहते उनसे बहुत कुछ सीखने का मौका मिला था। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दें।

रिपोर्ट : मधुरेश प्रियदर्शी


No comments:

Post a Comment