मनाईन-एक्कमा मुख्य मार्ग में हो रहा तेज कटाव, प्रशासन बना मूकदर्शक - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Friday, July 31

मनाईन-एक्कमा मुख्य मार्ग में हो रहा तेज कटाव, प्रशासन बना मूकदर्शक

मनाईन-एक्कमा मुख्य पथ में हो रहा तेज कटाव, प्रशासन बना मूकदर्शक
हिंदुस्तान मीडिया/मुजफ्फरपुर/बिहार
बाढ़ का दंश झेल रहे उत्तर बिहार में इस वक्त की बड़ी खबर मुजफ्फरपुर जिले के साहेबगंज प्रखंड क्षेत्र से आ रही है। यहां के मनाईन से मोरहर और खेमकरना होते हुए एक्कमा जाने वाली मुख्य पथ आज बाढ़ की भेंट चढ़ गई। गंडक नदी में आई बाढ़ और बाढ़ के कारण बौराई बाया नदी के पानी का काफी दबाव मनाईन-एक्कमा मुख्य पथ पर बीते एक सप्ताह से  बना हुआ था। अंततः पानी के तेज बहाव के कारण मोरहर गांव में गुरुवार की रात इस मुख्य मार्ग का कुछेक हिस्सा ध्वस्त हो गया। जानकार बताते हैं कि अगर यह पथ पूर्णरूपेण ध्वस्त हो गया तो साहेबगंज प्रखंड के दर्जनों गांव टापू मे तब्दील हो जायेंगे और यहां के निवासियों का जीना मुहाल हो जाएगां। मोरहर में इस मुख्य मार्ग पर करीब 200 मीटर में  पानी का तेज बहाव जारी है। पानी की तेज धार ने सड़क को क्षतिग्रस्त भी कर दिया है।
बीडीओ से लेकर डीएम तक को दी सूचना, लेकिन मुख्य मार्ग को बचाने का कार्य नहीं हुआ प्रारंभ
इस आशय की सूचना पत्रकार प्रेस परिषद के प्रदेश उपाध्यक्ष अमरेश कुमार ने आज सुबह साहेबगंज के बीडीओ, सीओ एंव आरडब्लूडी के कार्यपालक अभियंता को मोबाइल पर दिया। दिन भर में इन अधिकारियों के द्वारा उपरोक्त मुख्य मार्ग को बचाने की दिशा में कोई सार्थक पहल शुरू नहीं किए जाने पर प्रदेश उपाध्यक्ष श्री कुमार ने देर शाम इसकी जानकारी मुज़फ़्फ़रपुर के ज़िलाधिकारी डॉ.चंद्रशेखर सिंह को उनके ट्विटर हैंडल पर ट्वीट करके दिया है। परिषद् के प्रदेश उपाध्यक्ष ने बाढ़ जैसी आपदा के बीच प्रशासन पर लापरवाही का गंभीर आरोप लगाया है। बाढ़ के दौरान राहत एवं बचाव कार्य चलाने के मामले में उन्होंने शिथिलता बरतने का भी आरोप सरकार और उसके मातहत पदाधिकारियों पर लगाया है। सवालिया लहजे में श्री कुमार ने कहा कि इस बार के भीषण बाढ़ एवं कोरोना महामारी में बिहार की आम जनता किसके भरोसे जिंदा रहेगी यह यक्ष प्रश्न बना हुआ है। पत्रकार प्रेस परिषद् की ओर से प्रदेश उपाध्यक्ष श्री कुमार ने जनहित में मुजफ्फरपुर सहित समस्त उत्तर बिहार को बाढ़ग्रस्त क्षेत्र घोषित कर राहत एवं बचाव कार्य तेज करने की मांग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से की है।

रिपोर्ट : मधुरेश प्रियदर्शी

No comments:

Post a Comment