सीएम के साथ वीसी में शालिनी मिश्रा ने उठाया किसानों का मुद्दा - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Thursday, May 14

सीएम के साथ वीसी में शालिनी मिश्रा ने उठाया किसानों का मुद्दा

कोरोना संकट : सरकार के पैसे पर पहला हक आपदा पीड़ितों का, वीसी के दौरान बोले सीएम नीतीश कुमार

न्यूज डेस्क/पटना/बिहार

सूबे में कोरोना संकट को लेकर जारी लॉकडाउन के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार की शाम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पूर्वी चंपारण जिला जदयू के प्रमुख नेताओ के साथ बातचीत की। सीएम ने अपनी पार्टी के नेताओं से करोना से उत्पन्न स्थिति की जमीनी जानकारी प्राप्त की। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में बिहार सरकार के मंत्री श्री अशोक चौधरी ने भी भाग लिया। वीसी के दौरान सीएम ने कहा कि सरकार के पैसे पर पहला हक आपदा पीड़ितों का है। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। सीएम ने कहा कि आपदा की इस घड़ी में भी कुछ लोग साम्प्रदायिकता फैलाने में जुटे हैं। हम वैसे लोगों को सफल नहीं होने देंगे।

मजदूरों को अब बिहार से बाहर जाने की जरुरत नहीं

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि दूसरे राज्यों से लौट रहे मजदूरों को अब यहीं काम दिया जाएगा। हम उद्योग लगाकर रोजगार के नये अवसर प्रदान करेंगे। हम ऐसा माहौल बनायेंगे कि लोग रोजगार के लिए दूसरे प्रदेशों में जाना भूल जायेंगे। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत भी मजदूरों को काम मिलेगा। 

कोरोना संकट के दौरान लोगों में जागृति लाएं जदयू के नेतागण

मुख्यमंत्री ने जदयू नेताओं से कोरोना को लेकर लोगों में जागृति लाने की अपील की। आपदा की इस घड़ी में सीएम ने अपनी पार्टी के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को हर समय लोगों के बीच रहने का टास्क दिया। सीएम ने वीसी के दौरान कहा कि वे जनता के लिए 24×7 उपलब्ध हैं। जब जैसी जानकारी हो तुरंत दिजिए सरकार उसपर अमल करेगी।

पूर्व सांसद की पुत्री शालिनी मिश्रा भी हुई सीएम से मुखातिब

वीसी के दौरान सीएम के समक्ष मोतिहारी के पूर्व सांसद कमला मिश्र मधुकर की सुपत्री व जदयू नेत्री शालिनी मिश्रा ने भी अपनी बातें रखीं। उन्होंने मुख्यमंत्री को पूर्वी चंपारण जिला खासकर केसरिया विधानसभा क्षेत्र की स्थिति से अवगत कराया। जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संकट के दौरान किए जा रहे कार्यों पर संतोष व्यक्त करते हुए जदयू नेत्री ने मुख्यमंत्री से बगैर बैंक खाता के आधार से जुड़े होने या बिना खाता धारक को भी सहायता उपलब्ध कराने, नया राशन कार्ड बनाने की प्रक्रिया को तेज करने तथा एक सप्ताह के अंदर घर आने की इच्छा रखने वाले सभी प्रवासी लोगों को वापस बिहार बुलाने की मांग की। सरकार द्वारा पंचायतों के माध्यम से जनता के बीच साबुन एवं मास्क का वितरण कराने के निर्णय के लिए शालिनी मिश्रा ने चंपारण की जनता की ओर से मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया।

पूर्व सांसद की सुपुत्री ने सीएम नीतीश कुमार को कुछ सलाह दिया जो निम्न प्रकार से है —

1.  मास्क बनवाने का काम पंचायत में कराया जाय जिससे रोज़गार के अवसर बढ़ेंगे। मास्क एवं साबुन के वितरण में जदयू कार्यकर्ताओं की भी भागीदारी सुनिस्चित की जाए।

2. कम से कम दो दिन के लिए कपड़ा का दुकान खुलवाया जाए ताकि शादी वगैरह तथा गर्मी का कपड़ा लोग खरीद सके।

3. लॉकडाउन अवधि का बिजली बिल माफ कर दिया जाए जिससे कोरोना संकट के दौरान मध्यम वर्ग को भी राहत मिल सके।

4. लॉकडाउन के दौरान काफी संख्या में प्रवासी लोग ट्रक,बस या फिर टैक्सी के द्वारा गलत तरीक़े से बिहार आ रहे हैं। वे लोग कोरेन्टाइन सेंटर न जाकर सीधे अपने घर जा रहे हैं,जो बेहद घातक है। उस पर रोक लगाने की जरुरत है।

5. पूर्वी चंपारण जिला खासकर केसरिया, कल्याणपुर एवं संग्रामपुर प्रखंड क्षेत्र में फसल क्षति बीमा दिलाने की मांग की।

6. कोरोना संकट के दौरान केसरिया विधानसभा क्षेत्र में शालिनी मिश्रा ने अपने नेतृत्व में जदयू कार्यकर्ताओं द्वारा चलाए जा रहे कोरोना जागरूकता अभियान और उस दौरान किए जा रहे खाद्यान्न, मास्क, साबुन एवं सेनेटाइजर के वितरण से भी सीएम को अवगत कराया।

शालिनी मिश्रा द्वारा फसल क्षति बीमा भुगतान की मांग से किसानों में हर्ष

वीसी के दौरान जदयू नेत्री शालिनी मिश्रा द्वारा मुख्यमंत्री के समक्ष केसरिया, संग्रामपुर एवं कल्याणपुर प्रखंड क्षेत्र में हुई फसल क्षति और जिला प्रशासन द्वारा यहां के किसानों को फसल नुकासान की भरपाई के दायरे से अलग रखने का मुद्दा उठाए जाने का पूर्वी चंपारण के राजनैतिक-सामाजिक कार्यकर्ताओं, किसानों एवं जनप्रतिनिधियों ने स्वागत किया है। संग्रामपुर प्रखंड अन्तर्गत बरवां पंचायत के पूर्व मुखिया बलिराम सिंह ने कहा कि अपने पिता पूर्व सांसद कमला मिश्र मधुकर के बताए रास्ते पर चलकर शालिनी मिश्रा आज किसान हित सराहनीय कार्य कर रही हैं। कल्याणपुर के पूर्व प्रमुख चंदेश्वर कुंवर ने कहा कि फसल क्षति अनुदान एवं लॉकडाउन अवधि के बिजली बिल माफी का मुद्दा शालिनी मिश्रा द्वारा सीएम के समक्ष रखा गया है जो जनहित में बहुत बड़ा कदम है। मठिया पंचायत की मुखिया अनिता सिंह ने शालिनी मिश्रा को लोककल्याणकारी नेत्री बतलाया। वहीं जिला जदयू के नेता पूर्व मुखिया रामबली राम, मानवाधिकार संगठन के सुरेंद्र प्रसाद, पूर्व प्रमुख तारा देवी, पैक्स अध्यक्ष जीतेंद्र कुमार सिंह, पूर्व पैक्स अध्यक्ष अभय ठाकुर, पूर्व मुखिया ध्रुव सहनी, पूर्व मुखिया बच्चा गिरि, युवा जदयू के प्रदेश महासचिव परवेज आलम, पूर्व मुखिया श्रीकांत सिंह, पूर्व मुखिया बृजकिशोर सिंह, जदयू नेता बसंत कुशवाहा, युवा नेता अजीत कुमार, जदयू नेता दिलीप कुशवाहा,मनोज ठाकुर, नीतेश चंद्रवंशी एवं छात्र नेता दिव्यांश शेखर ने सीएम के समक्ष जनहित-किसान हित का मुद्दा उठाए जाने के लिए केसरिया विधानसभा क्षेत्र की जनता खासकर किसानों की ओर से जदयू नेत्री शालिनी मिश्रा को बधाई दी है।

No comments:

Post a Comment