जदयू नेता रामपुकार सिन्हा को अपराधियों ने दी गोलियों से छलनी कर देने की धमकी - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Friday, April 17

जदयू नेता रामपुकार सिन्हा को अपराधियों ने दी गोलियों से छलनी कर देने की धमकी

दुस्साहस : जदयू नेता रामपुकार सिन्हा को अपराधियों ने दी जान मारने की धमकी, मामला दर्ज

न्यूज डेस्क/मोतिहारी/बिहार

बड़ी खबर पूर्वी चंपारण जिले के नेपाल सीमावर्ती घोड़ासहन से मिल रही है। कोरोना संकट को लेकर जारी लॉकडाउन के बीच बेखौफ अपराधियों ने दुस्साहस का परिचय देते हुए जदयू किसान प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष रामपुकार सिन्हा को जान मारने की धमकी दी है। मिल रही जानकारी के मुताबिक गुरुवार की देर शाम जदयू नेता श्री सिन्हा घोड़ासहन थाना क्षेत्र के कवैया स्थित अपने पैतृक घर पर मौजूद थे, उसी दौरान उनके सेलफोन पर किसी का कॉल आया। कॉल रिसीव करते ही फोन करने वाले ने गाली-गलौज करते हुए लॉकडाउन के बाद गोलियों से छलनी कर देने की धमकी दी। जदयू नेता द्वारा असंसदीय भाषा का प्रयोग नहीं करने की बात कहने पर फोन करने वाला ज्यादा भड़क गया। बकौल श्री सिन्हा फोन करने वाले अपराधी ने पुनः धमकी देते हुए कहा कि तुम बहुत बड़ा नेता बनते हो। तुम ढाका से विधानसभा चुनाव की तैयारी में हो। हम तुम्हें लॉकडाउन के बाद गोलियों से छलनी कर देंगे। श्री सिन्हा द्वारा फोन काट देने पर अपराधी ने दोबारा कॉल करके भी धमकी दी।

जदयू नेता ने एसपी-डीएसपी को मामले से कराया अवगत

मामले की गंभीरता को देखते हुए जदयू नेता श्री सिन्हा ने पूरे घटनाक्रम से जिले के एसपी एवं सिकरहना के डीएसपी को अवगत कराया। बाद में श्री सिन्हा ने झरोखर थाने में आवेदन देकर प्राथमिकी दर्ज करायी है। इस संदर्भ में झरौखर के थानाध्यक्ष लालबाबू यादव ने बताया कि मामले को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर अनुसंधान की जा रही है।

पत्रकारिता से राजनीति में आए हैं रामपुकार सिन्हा

यहां बता दें कि पत्रकारिता से राजनीति में आए रामपुकार सिन्हा समाजवादी विचारधारा के झंडाबरदार हैं। वर्तमान में वे जदयू राज्य परिषद् के सदस्य के साथ ही पार्टी के किसान प्रकोष्ठ के पूर्वी चंपारण जिले के जिलाध्यक्ष भी हैं। वे ढाका विधानसभा क्षेत्र से चुनाव भी लड़ चुके हैं। ढाका की राजनीति में श्री सिन्हा की पहचान एक जमीनी नेता के रुप में है।

No comments:

Post a Comment