ड्यूटी पर तैनात चौकीदार से उठक-बैठक कराने वाले अररिया के डीएओ पर होगी कार्रवाई - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Tuesday, April 21

ड्यूटी पर तैनात चौकीदार से उठक-बैठक कराने वाले अररिया के डीएओ पर होगी कार्रवाई


ड्यूटी पर तैनात चौकीदार से उठक-बैठक कराने वाले अररिया के डीएओ पर होगी कार्रवाई, कृषि मंत्री ने मांगी रिपोर्ट

न्यूज डेस्क/अररिया/बिहार

बिहार के अररिया में ड्यूटी पर तैनात चौकीदार से उठक-बैठक करवाना जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार को महंगा पड़ा। लॉकडाउन के दौरान में ड्यूटी पर तैनात चौकीदार को उठक- बैठक कराने का वीडियो वायरल होते ही बिहार के प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया। सूबे के कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार ने इस मामले को गंभीरता से लिया है। उन्होंने विभाग के वरीय अधिकारी और पूर्णिया प्रमंडल के ज्वाइंट डायरेक्टर एग्रीकल्चर को इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं। कृषि मंत्री ने इस संबंध में 24 घंटे के अंदर जांच रिपोर्ट मांगी है। जांच रिपोर्ट आने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी। ड्यूटी पर तैनात चौकीदार की गलती सिर्फ इतनी थी कि उसने जिला कृषि पदाधिकारी से लॉकडाउन के दौरान गाड़ी का पास मांग लिया था। इतने में आगबबूला होकर पदाधिकारी महोदय चौकीदार से दनादन उठक-बैठक कराने लगे।

कृषि मंत्री डॉ.प्रेम कुमार ने 24 घंटे के अंदर मांगी रिपोर्ट

इस मामले में कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने कहा कि अररिया में कृषि पदाधिकारी और चौकीदार के बीच एक वीडियो वायरल हुआ है जिसको लेकर ज्वाइंट डायरेक्टर एग्रीकल्चर पूर्णिया को आदेश दिया गया है कि इस मामले की जांच की जाए। डॉ. प्रेम कुमार ने कहा कि संबधित अधिकारी द्वारा जो काम किया गया है वह काफी आपत्तिजनक है। कृषि मंत्री डॉ. कुमार ने कहा कि जांच रिपोर्ट आने के बाद निश्चित तौर पर कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि हमारे पुलिस के जवान  अपनी जिम्मेवारी का निर्वहन कर रहे हैं ऐसे में जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा जो व्यवहार किया गया है वो काफी आपत्तिजनक है। कृषि मंत्री ने देश में जारी लॉकडाउन के दौरान मुस्तैदी से ड्यूटी कर रहे पुलिस के जवानों की जमकर तारीफ की।

पूरे प्रकरण पर डीजीपी ने जताई नाराजगी, लिया संज्ञान

बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने इस पूरे प्रकरण पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा है कि यह शर्मनाक घटना है। इसकी सूचना हमने सरकार को दे दी है और शाम तक रिपोर्ट आ जाएगी। डीजीपी ने कहा कि जो भी हुआ गलत हुआ, अगर कोई वर्दीधारी किसी भी प्रकार की गलती करता है, तो हम उसके खिलाफ कार्रवाई करते हैं। ऐसे में अगर कोई बात थी, तो मुझे सूचना देनी चाहिए थी।

खैर, मामला राज्य सरकार के दो महकमे के बीच का है। अब देखना यह है कि इस मामले में अग्रतर कार्रवाई क्या होती है।

No comments:

Post a Comment