सीतामढ़ी में दो लूटेरों को भीड़ ने मार डाला - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Tuesday, March 10

सीतामढ़ी में दो लूटेरों को भीड़ ने मार डाला


 सीतामढ़ी : व्यवसायी को लूटने आए दो लूटेरे भीड़ की भेंट चढ़े, लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला

लोकहित समाचार/सीतामढ़ी/बिहार

होली के उल्लास के बीच इस वक्त की बड़ी खबर बिहार के सीतामढ़ी से मिल रही है। यहां एक कारोबारी को लूटने आए दो लुटेरों को भीड़ ने पकड़ लिया और मौके पर ही पीट-पीटकर मार डाला। भीड़ द्वारा ऑन स्पॉट फैसला लिए जाने का यह वाक्या सोनबरसा हाईस्कूल के समीप घटित हुई है।


 मिल रही  जानकारी के अनुसार स्थानीय व्यवसायी रामबाबू महतो जब अपने कारोबार के सिलसिले में घर से सीतामढ़ी की ओर जा रहे थे इसी बीच दो अपराधियों ने उन पर हमला बोल दिया।

व्यवसायी की हत्या करना चाहते थे अपराधी

अपराधियों ने पहले पिस्तौल की बट से व्यवसायी को मारकर जख्मी किया और उसके बाद गोली मारना चाहा। इतने में स्थानीय लोगों की नजर व्यवसायी  पर पड़ गई। स्थानीय लोग जब जुटे तो अपराधी भागने लगे। लोगों ने अपराधियों को खदेड़ कर पकड़ लिया और उनकी जमकर पिटाई की।



भीड़ की पिटाई से मौके पर मरे अपराधी

स्थानीय लोगों ने दोनों अपराधियों की इतना पीटा कि एक की मौके पर मौत हो गई जबकि दूसरे गंभीर रूप से जख्मी दूसरे अपराधी को पुलिस ने सोनबरसा पीएससी में इलाज के लिए भर्ती कराया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस घटना के बाद मृत अपराधियों को देखने के लिए सैकड़ों की लोगों की भीड़ मौके पर उमड़ पड़ी।

लुटेरों की नहीं हो सकी है पहचान

घटना की सूचना मिलते ही जिले के वरीय पुलिस पदाधिकारी मौके पर पहुंच गये और मामले की जांच शुरु कर दी। घटना में शामिल दोनों मृत लुटेरों की पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस दोनों मृत लूटेरों की पहचान करने में जुटी है। मौके पर पहुंचे सदर एसडीपीओ कुमार धीर वीरेंद्र ने बताया कि इस मामले को लेकर पुलिस जांच में जुटी है। इस मामले में पुलिस नियमानुकूल कार्रवाई करेगी।

पुलिस के खिलाफ लोगों में दिखा गुस्सा

घटनास्थल पर मौजूद लोग पुलिस प्रशासन के खिलाफ आक्रोश जता रहे थे। सूबे में लगातार बढ़ रहे अपराध से लोग गुस्से में थे। लोगों का कहना था कि सोनबरसा में लगातार घट रहे आपराधिक घटनाओं पर रोक लगाने में पुलिस अक्षम साबित हो रही थी। इसी कारण आजिज होकर लोगों ने अपराधियों को अपना निशाना बनाया है। लोगों का कहना था कि बढ़ते अपराध के खिलाफ अब पुलिस को अब मुस्तैद होने की जरूरत है।

No comments:

Post a Comment