कहर-ए-कोरोना : विश्व प्रसिद्ध केसरिया स्तूप पर्यटकों के लिए हुआ बंद - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Tuesday, March 17

कहर-ए-कोरोना : विश्व प्रसिद्ध केसरिया स्तूप पर्यटकों के लिए हुआ बंद

        

कहर-ए-कोरोना : विश्व प्रसिद्ध केसरिया बौद्ध स्तूप का मुख्य द्वार हुआ सील, पर्यटक नहीं कर सकेंगे प्रवेश


मोतिहारी/बिहार


चीन से चले कोरोना वायरस असर अब भारतीय पर्यटन पर भी पड़ने लगा है। विदेशी पर्यटकों के आने से कोरोना वायरस के संक्रमण के बढ़ते खतरे को लेकर विश्व के सबसे ऊंचे बौद्ध स्तूप को भारत सरकार ने मंगलवार से देशी-विदेशी पर्यटकों के लिये बंद कर दिया।  आज से से लेकर 31 मार्च तक बौद्ध स्तूप पर्यटकों के लिये बंद कर दिया गया है। अब बिहार में आने वाले  कोई भी विदेशी पर्यटक विश्व प्रसिद्ध केसरिया बौद्ध स्तूप का समीप से दीदार नहीं कर सकते। हां, चाहरदिवारी के बाहर से स्तूप का दर्शन किया जा सकता है।

केन्द्रीय संस्कृति मंत्री ने दिया आदेश


भारत सरकार के संस्कृति मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल के आदेश के आलोक में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण पटना अंचल अन्तर्गत उप अंचल वैशाली के संरक्षण सहायक विक्रम झा ने आज से विश्व प्रसिद्ध बौद्ध स्तूप को देशी-विदेशी पर्यटकों के लिए बंद कर दिया। कोरोना वायरस को लेकर बढ़ते खतरे को देखते हुए संस्कृति मंत्रालय ने यह फैसला लिया है।

प्रतिदिन सैैकड़ोंं की संख्या में आते हैं पर्यटक


यहां बता दें कि विश्व प्रसिद्ध बौद्ध स्तूप को देखने के लिये प्रति दिन सैकड़ों की संख्या में विदेशी पर्यटक केसरिया आते हैं। यहां आने वाले विदेशी पर्यटकों में श्रीलंका,चीन,कंबोडिया,जापान,थाइलैंड,इंडोनेशिया, म्यांमार एवं नेपाल सहित अन्य बौद्ध धर्मावलंबी देशों के पर्यटक शामिल हैं। केसरिया का यह विश्व प्रसिद्ध बौद्ध स्तूप 105 फिट ऊंचा है,जो संसार का सबसे ऊंचा स्तूप है। उल्टा कमल स्वरूप यह बौद्ध स्तूप बिहार आने वाले देशी-विदेशी पर्यटकों के आकर्षण का प्रमुख केन्द्र है।

No comments:

Post a Comment