कोरोना को लेकर पीएम मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन का किया एलान - HINDUSTAN MEDIA

Breaking खबरें

Tuesday, March 24

कोरोना को लेकर पीएम मोदी ने 21 दिन के लॉकडाउन का किया एलान

पीएम मोदी का राष्ट्र के नाम संबोधन : कोरोना को लेकर  21 दिन के लॉकडाउन का किया एलान

न्यूज डेस्क/नई दिल्ली 

दुनिया के पैमाने पर जारी कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज फिर राष्ट्र को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि प्यारे देशवासियों मैं आज फिर कोरोना नामक वैश्विक बिमारी पर बात करने के लिए आया हूँ। जनता कर्फ्यू का जो संकल्प हमने 22 मार्च को लिया था सभी भारत वासियों ने मिलकर उसे पूरा किया। परीक्षा की घड़ी में उस दिन भारत ने दिखा दिया कि जब मानवता पर संकट आता है तो हम कैसे मिलकर सामना करते हैं। पीएम ने कहा कि इसके लिए आप सभी बधाई के पात्र हैं।

संक्रमण की साईकिल को रोकें.......

उन्होंने कहा कि हम कोरोना पर दुनिया भर की स्थिति देख रहें हैं। पूरी दुनिया को इस बिमारी ने बेबस कर दिया है। सभी देश मिलकर लड़ रहें लेकिन यह बीमारी इतने तेजी से फैल रहा है कि स्थिति संभल नहीं रही है। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एक मात्र विकल्प है सोशल डिस्टेसेंसिग। कोरोना से बचने का और कोई रास्ता नहीं है। कोरोना को रोकना है तो संक्रमण की साईकिल को रोकना होगा। सामाजिक दूरी सभी के लिए आवश्यक है।कुछ लोगों की लापरवाही आपको, आपके बच्चों और आपके परिवार को आगे चलकर पूरे देश को बहुत मुश्किल में झोंक देगी।

लॉकडाउन को गंभीरता से लें........

पीएम ने कहा कि यह लापरवाही अगर जारी रही तो भारत को इसकी बड़ी कीमत चुकानी पडेगी। देश के अनेक राज्यों में लॉकडाउन है पर इसको गंभीरता से ले।

आज आधी रात से लॉकडाउन......

श्री मोदी ने कहा कि देश आज एक महत्वपूर्ण निर्णय करने जा रहा है। आज आधी रात से पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है। हिन्दुस्तान को बचाने के लिए यह लॉकडाउन होने जा रहा है। देश के हर राज्य को हर केन्द्रशासित प्रदेश को लॉकडाउन किया जा रहा है।यह एक तरह से कर्फ्यू है। यह जनता कर्फ्यू से एक कदम ज्यादा है। उन्होंने कहा कि यह कदम बहुत  आवश्यक है। इस लॉकडाउन की आर्थिक कीमत हमें चुकानी पड़ेगी, लेकिन आपका जीवन बचाना इस समय सबसे बड़ी प्राथमिकता है।

आप जहां भी हैं वहीं रहें.....

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैं हाथ जोड़कर प्रार्थना करता हूँ कि आप जहाँ भी हैं वहीं रहें। यह लॉकडाउन 21 दिन का होगा। आने वाले 21 दिन हर परिवार के लिए महत्वपूर्ण है। यह समय बहुत अहम है। मोदी ने कहा कि अगर यह 21 दिन नहीं संभला तो देश और परिवार 21 साल पीछे चला जाएगा। उन्होंने कहा कि मैं यह बात एक प्रधानमंत्री के तौर पर नहीं परिवार के सदस्य के तौर पर कह रहा हूँ। 

पीएम ने आगे कहा कि आज के फैसले ने आपके घर के दरवाजे पर एक लक्ष्मण रेखा खींच दिया है। आपका एक कदम कोरोना बिमारी को आमंत्रित कर देता है। कोरोना से संक्रमित व्यक्ति शुरुआत में सही लगता है इसलिए एहतियात रखें। जो लोग घर पर है सोशल मीडिया पर बहुत अच्छे से बता रहें हैं।
उन्होंने कहा कि एक्सपर्ट का कहना है कि अगर आज कोरोना वायरस पहुंचता है तो कई दिन लक्षण दिखने में लग जाता है।

एक व्यक्ति सैकड़ों को कर देगा संक्रमित.......

पीएम मोदी ने कहा कि WHO की रिपोर्ट बताती है कि यह आग कि तरह से फैलता है। एक व्यक्ति सैकड़ो व्यक्तियों तक संक्रमित करता है। एक लाख तक पहुंचने में 67 दिन लगे। अगले 11 दिन में एक लाख और हो गए। यह और भी भयावह है दो लाख से तीन लाख पहुंचने में चार दिन लगे। जब यह फैलना शुरू करता है तो रोकना मुश्किल होता है।
पीएम ने कहा कि अनेक देशों में जब कोरोना वायरस फैलना शुरू हुआ तो रोकना मुश्किल हो गया है।
सवाल यह है कि इस समय विकल्प है कि हफ्तों तक इन देशों के नागरिक घरों से बाहर नहीं निकले। इन देशों के नागरिकों ने सरकारी निर्देश का पालन किया।
हमें भी यह मानकर चलना चाहिए बस यही मार्ग है। चाहे जो हो जाए घर में रहना है।
कोरोना से तभी बचा जा सकता है जब घर की लक्ष्मण रेखा ना लांघी जाए। भारत आज उस स्टेज पर है कि हम इस आपदा को कितना कम कर सकते हैं। यह समय कदम-कदम पर संयम बरतने का है ।

जान है तो जहान है........

लॉकडाउन के समय हमें संकल्प निभाना है। मेरी आपसे प्रार्थना है कि आप उन लोगों के लिए सोंचे जो अपना कर्तव्य निभाने के लिए अपना जान जोखिम में डाल रहें हैं। जो अस्पताल में काम कर रहें हैं। उन सभी के विषय में सोचिए। उन लोगों के लिए प्रार्थना करें।  जिसके कारण इस वायरस का नामो-निशान न रहें।

मीडिया व पुलिस के विषय में सोंचे........

मीडिया के विषय में भी सोचिए। पुलिस कर्मियों के विषय में सोचिए। जो दिन रात ड्यूटी कर रहें हैं।
पीएम बोले कि देश और राज्य सरकारे मिलकर काम कर रही हैं। सभी उपाय किए गए हैं। निश्चित तौर पर गरीबों के लिए यह समय बहुत ही मुश्किल दौर है। सरकार और समाज इनके लिए मिलकर  काम कर रहें हैं। सबके सुझाव पर कार्य करते हुए निरंतर फैसले लिए। आज 15 हजार करोड़ का प्रावधान किया गया जिसका उपयोग कोरोना के उपचार के लिया किया गया है।
मैने राज्य सरकारों से अनुरोध किया है इस समय सभी सरकारों की प्राथमिकता स्वास्थ्य सेवा होनी चाहिए । प्राइवेट सेक्टर भी मदद कर रहें हैं ।।

अफवाहों से बचें........

ऐसे समय में जाने अनजाने में अफवाहें भी बहुत फैलती है। इस समय किसी प्रकार के अंधविश्वास और अफवाह से बचें। सरकार की सलाह माने । बिना डाक्टर की सलाह के कोई दवा न ले।
मुझे विश्वास है कि इस संकट की घड़ी में हर भारतीय सरकार के नियमों का पालन करेगा। लॉकडाउन ही अब एक मात्र रास्ता है। हम सभी इसका मिलकर मुकाबला करेंगे और देश कोरोना से जीतकर बाहर निकलेगा। पीएम ने कहा कि संयम बरतते हुए इन बंधनों को स्वीकार करें।

No comments:

Post a Comment