गोपालगंज में 118 हड़ताली शिक्षक निलंबित - HINDUSTAN MEDIA

Search This Blog

Breaking खबरें

Saturday, February 29

गोपालगंज में 118 हड़ताली शिक्षक निलंबित

बड़ी कार्रवाई : गोपालगंज में 118 हड़ताली शिक्षक निलंबित, डीएम ने दिया प्राथमिकी दर्ज करने का आदेश


लोकहित समाचार/गोपालगंज/बिहार --

बिहार के गोपालगंज में जिला प्रशासन ने हड़ताली शिक्षकों पर बड़ी कार्रवाई की है।  समान काम के लिए समान वेतन समेत विभिन्न मांगों को लेकर बिहार में शिक्षकों की हड़ताल लगातार जारी है। हड़ताली शिक्षकों पर सरकार द्वारा लगातार कार्रवाई भी की जा रही है। इस कड़ी में गोपालगंज में जिला प्रशासन ने हड़ताल पर गए वैसे शिक्षकों के खिलाफ कड़ी कारवाई की है जो इंटर की कॉपी का मूल्यांकन कर रहे शिक्षकों को धमका रहे थे और उनके उपर काम नहीं करने का दबाव बना रहे थे। ऐसे 118 शिक्षकों को डीएम के आदेश पर निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही डीडीसी ने उन्हें संविदा से मुक्त करने की अनुशंसा भी कर दी है।

साथी शिक्षकों से बदतमीजी कर रहे थे हड़ताली शिक्षक.......


गोपालगंज के डीएम अरशद अजीज ने बताया कि ऐसे सभी शिक्षकों पर एफआईआर दर्ज कर उनके खिलाफ कड़ी करवाई की जाएगी जो इंटर की कॉपी का मूल्यांकन कर रहे शिक्षकों को धमका रहे हैं। डीएम ने बताया कि गोपालगंज में भी चार केन्द्रों पर इंटर की परीक्षा का मूल्यांकन का कार्य चल रहा है। इस दौरान कई शिक्षक अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं लेकिन इसी दौरान सूचना मिली थी कि जो शिक्षक कॉपी का मूल्यांकन कर रहे हैं उन्हें हड़ताली शिक्षक रोक रहे हैं और उनके साथ बदतमीजी कर रहे हैं। डीएम ने बताया कि हड़ताल पर गए शिक्षकों का आन्दोलन जायज नहीं है और इसके साथ ही वे काम करने वालों को रोक रहे हैं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

निलंबित होने वाले 118 शिक्षक जिला परिषद के......


डीएम ने बताया कि इसी क्रम में जिला परिषद के 118 शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है और आगे उनकी संविदा समाप्त करने की अनुशंसा की जा रही है। डीएम ने कहा कि आगे भी जो शिक्षक ऐसा करेंगे उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।निलंबित किये सभी शिक्षकों का नियोजन जिला परिषद संभाग से हुआ था। जिसमे मांझागढ़ , फुलवरिया , भोरे, विजयीपुर , बरौली एवं कुचायकोट सहित कई प्रखंडो के नियोजित शिक्षक शामिल है। डीएम द्वारा की गई कार्रवाई से हड़ताली शिक्षकों के बीच हड़कंप मचा है।

No comments:

Post a Comment