HINDUSTAN MEDIA

Breaking खबरें

Wednesday, April 8

बिहार में लॉकडाउन के दौरान अब चलेंगे मालवाहक वाहन

April 08, 2020 0

बिहार में लॉकडाउन के दौरान चलेंगे मालवाहक वाहन, परिवहन सचिव ने दी जानकारी

न्यूज डेस्क/पटना/बिहार

कोरोना संक्रमण को लेकर देश भर में जारी लॉकडाउन के बीच बिहार में ट्रांसपोर्टरों के लिए अच्छी खबर है। बिहार सरकार के परिवहन विभाग ने ट्रांसपोर्टरों को बड़ी राहत दी है। परिवहन विभाग ने  लॉकडाउन के दौरान सूबे में मालवाहक वाहनों के परिचालन की अनुमति देने का निर्णय लिया है। राज्य के परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने मंगलवार को विभिन्न ट्रांसपोर्टरों के साथ समीक्षा बैठक की। बैठक के दौरान कई बड़े फैसले लिए गये। बैठक में लिए गए निर्णय की जानकारी देते हुए परिवहन सचिव ने बताया कि बालू-गिट्टी की गाड़ी को छोड़कर सभी प्रकार के मालवाहक वाहनों को चलाने का आदेश दिया गया है।

खाद्य सामग्री के परिवहन पर किसी भी प्रकार का रोक नहीं

परिवहन सचिव के मुताबिक खाद्य सामग्री एवं अन्य आवश्यक वस्तुओं के परिवहन की लगातार समीक्षा जारी है। खाद्य सामग्री के परिवहन पर किसी भी प्रकार की  कोई रोक नहीं है। इस दौरान टायर रिपेयरिंग की दुकानें भी खुली रहेंगी ताकि मालवाहक वाहनों को सहुलियत हो सके। परिवहन सचिव श्री अग्रवाल ने सूबे के सभी जिला परिवहन पदाधिकारियों को निर्देश दिया है कि वे अपने-अपने जिले में ट्रांसपोर्टरों के साथ बैठक करके मालवाहक वाहनों के परिचालन के दौरान हो रही समस्याओं का सामाधान करें।
Read More

Tuesday, April 7

बिहार में आज कोरोना के दो नये मरीज मिले, संख्या बढ़कर हुई 34

April 07, 2020 0

बिहार में आज दो कोरोना पॉजिटिव मिले, संख्या बढ़कर 34 हुई

न्यूज डेस्क/पटना/बिहार

 बिहार में मंगलवार को कोरोना पॉजिटिव दो मरीज मिले है। बीते दो दिनों में कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीज नहीं मिलने से स्वास्थ्य विभाग के कर्मी उत्साहित थे।  लेकिन, आज दो मरीजों का जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही हड़कंप मच गया। पटना स्थित राजेंद्र मेमोरियल रिसर्च इंस्टीट्यूट (RMRI) के चिकित्सकों ने आज दो लोगों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि कर दी। जिन दो लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया है वे दोनों महिला हैंं।  ये महिलाएं सीवान की निवासी हैं। इन दोनों मरीजों के साथ ही अब बिहार में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 34 हो गई है।
Read More

Monday, April 6

सिवान में ब्राह्मण महासंगठन के जिलाध्यक्ष की गोली मारकर हत्या

April 06, 2020 0

फाइल फोटो :टिंकू बाबा {फेसबुक से}

सिवान : बेखौफ अपराधियों ने ब्राह्मण महासंगठन के जिलाध्यक्ष टिंकू बाबा को मारी गोली, मौके पर मौत

न्यूज डेस्क/सिवान/बिहार

सूबे बिहार में लॉकडाउन का अपराधियों पर कोई असर नहीं है। कानून को धत्ता बताते हुए बेखौफ अपराधियों ने सूबे के सिवान जिले में अभी से कुछ देर पहले एक बड़ी घटना को अंजाम दिया है। अपराधियों ने यहां अन्तर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासंगठन के जिलाध्यक्ष  शेषनाथ द्विवेदी उर्फ टिंकू बाबा को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया है।

गोली मारकर फिल्मी स्टाइल में फरार हुए अपराधी

यह सनसनीखेज घटना सिवान जिले के आंदर थाना क्षेत्र के घेराई गांव में घटित हुई है। मिल रही जानकारी के अनुसार बाइक सवार अपराधियों ने जिलाध्यक्ष टिंकू को एक पर एक करके तीन गोली मार दी और फिल्मी स्टाइल में मौके से फरार हो गये। गंभीर रुप से घायल टिंकू बाबा को परिजन आनन-फानन मे इलाज के लिए सिवान सदर अस्पताल लेकर जा रहे थे लेकिन रास्ते में उन्होंने दम तोड़ दिया।

लॉकडाउन के बीच हुई इस हत्याकांड ने पुलिस की कार्यशैली पर उठाए सवाल

गोलीकांड की सूचना मिलते ही पुलिस टीम के साथ एसडीपीओ सदर अस्पताल पहुंचे और मामले की जांच शुरु कर दी। फिलहाल हत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है। लॉकडाउन के बीच दिनदहाड़े हुए इस हत्याकांड के बाद इलाके के लोग दहशत में हैं। आज सुबह घटित इस हत्याकांड ने सिवान जिले में पुलिस-प्रशासन की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगा दिया है। अब देखना यह है कि पुलिस इस मामले में क्या कार्रवाई करती है।
Read More

गांव में कोई भूखे नहीं सोएगा, राहत वितरण के दौरान बोले दिव्यांशु

April 06, 2020 1

कोरोना संकट : गांव में कोई भूखे नहीं सोएगा, राहत वितरण के दौरान बोले पीयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष दिव्यांशु

न्यूज डेस्क/मोतिहारी/बिहार

पूर्वी चंपारण जिले के मेहसी  प्रखंड क्षेत्र में कोरोना वायरस से उपजी त्रासदी एवं लॉकडाउन के कारण बेरोजगार एवं बेवस हो चुके गरीबों को मदद पहुंचाने या कार्य शुरू हो चुका है। इसी कड़ी में सोमवार को मेहसी के सुलसाबाद गांव में जरूरतमंद गरीबों के बीच राहत सामग्री का वितरण किया गया। इस मौके पर पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष दिव्यांशु भारद्वाज ने कहा कि भारत गांवों का देश है और संकट की इस घड़ी में हम सभी ग्रामीण एकजुट  हैं। हम सभी गांव में किसी भी आदमी को भूखे नहीं सोने देंगे। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के नियमों का पालन करके ही कोरोना को हराया जा सकता है। 

एक सौ परिवारों को दी गई राहत सामग्री

समाजसेवी सियाराम ठाकुर, रजनी ठाकुर एवं पटना विश्वविद्यालय छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष दिव्यांशु भारद्वाज की ओर से आज गांव के गरीबों के बीच राहत सामग्री का वितरण किया गया। गरीबों के बीच राहत सामग्री के रूप में चावल, आटा, दाल, नमक, सरसो तेल, साबुन एवं हल्दी आदि सामग्री का वितरण किया गया। गांव के करीब एक सौ परिवारों को आज राहत सामग्री दी गई। राहत समाग्री वितरण का कार्य भाजपा नेता कृष्ण नारायण ठाकुर, गणेश ठाकुर, वरीय पत्रकार सुदिष्ट नारायण ठाकुर, विनोद कुमार ठाकुर, जयंत कुमार मोनू, विकाश कुमार, डब्ल्यू ठाकुर, मोहन ठाकुर एवं रोहित कुमार ठाकुर आदि ने किया। ग्रामीणों को इस दौरान लॉक डाउन का पालन करने, साबुन से हाथ धोने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की सलाह दी गई। लोगों ने कहा कि वे सरकार की सलाह का पालन कर रहे हैं।
Read More

लॉकडाउन में गरीबों में भोजन पैकेट वितरित कर रहे एबीवीपी कार्यकर्ता

April 06, 2020 0

लॉकडाउन में एबीवीपी कार्यकर्ताओं ने संभाला मोर्चा, गरीबों को करा रहे भोजन

न्यूज डेस्क/मोतिहारी/बिहार

कोरोना वारयस के संक्रमण को रोकने के लिए देश भर में लागू लॉकडाउन के बीच बेबस, लाचार, गरीब एवं मजदूरों को समय पर भोजन कराने के लिए पूर्वी चंपारण जिले में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (एबीवीपी) ने मोर्चा संभाल लिया है। एबीवीपी के जिला संयोजक अभिषेक आर्यन ने बताया कि लॉकडाउन के कारण उत्पन्न विपरीत परिस्थिति में फंसे छात्र, गरीब, मजदूर, ठेला चालक सहित अन्य लोगों को किसी भी सूरत में भूखे नहीं रहने दिया जाएगा। कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए एबीवीपी कार्यकर्ताओं द्वारा  सैनीटाइजर,मास्क एवं साबुन के अलावें खाद्य समाग्री का लगातार वितरण किया जा रहा है। वितरण के दौरान कार्यकर्ताओं द्वारा लॉकडाउन का पालन मुस्तैदी से किया जा रहा है।

छात्रों एवं सरकार के कंधे से कंधा मिलाकर चल रही एबीवीपी

स्टूडेंट्स फॉर सेवा के जिला प्रमुख हिमांशु सिंह ने कहा कि इस कोरोना महामारी को लेकर जारी लॉकडाउन के दौरान एबीवीपी छात्रों एवं सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी है। परिषद् कार्यकर्ताओं के द्वारा छात्रों एवं जरूरतमंदों के बीच लगातार आवश्यक सामग्री वितरित की जा रही है।एबीवीपी के नगर मंत्री दिव्यांशु मिश्र के नेतृत्व में डोर टू डोर  मोतिहारी के गली-मोहल्लों में आज करीब तीन सौ जरुरत मंद लोगों के बीच भोजन सामग्री उपलब्ध कराया  है। एबीवीपी द्वारा शुरु किए गये इस कार्य में संगठन के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य राजन सिंह, कोष प्रमुख मनीष उपाध्याय, चम्पारण विभाग संगठन मंत्री दीपक मिश्र, शुभम कुमार, सोनू पांडेय, आलोक पांडेय, मृदुल कुमार, अविनाश कुमार एवं सोनू तिवारी आदि कार्यकर्ता दिन-रात लगे हुए हैं।
Read More

Sunday, April 5

बिहार के मुंगेर में जिंदा जली दो बच्चियों सहित वृद्ध महिला, तीनों की दर्दनाक मौत

April 05, 2020 0

कैप्सन: प्रतीकात्मक तस्वीर

दर्दनाक हादसा : मुंगेर में दो बच्चियों सहित दादी जिंदा जली, गांव में मातम

न्यूज डेस्क/मुंगेर/बिहार 

सूबे के मुंगेर जिले में एक बड़ी दर्दनाक घटना घटित हुई है। यहां अगलगी की एक घटना में दो बच्चियों एवं उनकी बूढ़ी दादी की जलकर दर्दनाक मौत हो गई है। दिल को झकझोर देने वाली यह वारदात रविवार की देर रात जिले के दीदारगंज क्षेत्र के कहुआ मुसहरी गांव में घटित हुई है। अब तक मिल रही जानकारी के अनुसार घर में अचानक आग लग जाने से दो बच्चियों समेत एक वृद्ध महिला की जलकर मौत हो गई। इस घटना में एक मवेशी सहित घर में रखा खाद्यान्न भी जलकर राख हो गया।

घटना के बाद गांव में पसरा मातमी सन्नाटा

घटना की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची और मामले की जांच में जुट गई।  घटना के समय मृतक बच्चियां अपनी वृद्ध दादी के साथ घर में सो रही थी, जबकि उसके माता-पिता दिल्ली में हैं। वे दोनों वहां मजदूरी का काम करते हैं। दो बच्चियों सहित वृद्ध महिला की जिंदा जलकर मौत हो जाने की घटना के बाद गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया है। गांव के लोग नि:शब्द हो गये हैं। किसी को कुछ समझ में नहीं आ रहा है। मृत बच्चियों के माता-पिता को ग्रामीणों ने घटना की सूचना दे दी है। देशव्यापी लॉकडाउन के कारण मृत बच्चियों के माता-पिता अपने गांव पहुंचने में असमर्थ हैं।

Read More

पीएम मोदी के आह्वान पर जले दीप तो रौशन हुआ बिहार

April 05, 2020 0

संघर्ष-ए-कोरोना : पीएम मोदी के आह्वान पर बिहार के गांवों से लेकर शहर तक जला दीप

न्यूज डेस्क/पटना/बिहार

"अलग-भाषा अलग वेष फिर भी अपना एक देश।" पीएम मोदी के आह्वान पर कोरोना वायरस के खिलाफ संघर्ष में एक साथ दीया जलाकर बिहार के लोगों ने उपरोक्त नारे की सार्थकता को आज एक बार पुनः साबित कर दिया। इसके साथ ही वैश्विक महामारी का रुप धारण कर चूके कोरोना वायरस के खिलाफ देश में जारी संघर्ष की कड़ी में आज एक नया आयाम जुड़ गया। पीएम नरेन्द्र मोदी के आह्वान का आज व्यापक असर देखने को मिला। पीएम के आह्वान पर अमल करते हुए लोगों ने अपने घरों के दरवाजे, बॉलकनी और छतों पर दीप जलाया।  दीप जलाकर लोगों ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अपनी एकजुटता का परिचय दिया।

बन गया था दीपावली जैसा दृश्य

वैसे तो दीया जलाने की तैयारी में लोग पहले से ही लगे थे। लेकिन, आज जैसे ही रात्रि का 9 बजा लोगों ने  9 मिनट तक अपने घरों के सभी लाइट बंद कर दी। लोगों ने दीया और
और मोमबत्ती की लाइट जलाकर एकजुटता का परिचय दिया। इस दौरान बिल्कुल दीपावली का दृश्य उत्पन्न हो गया था। इस अवसर पर लोगों में गजब का उत्साह देखने को मिला। गांव-कस्बों से लेकर शहर-शहर तक के लोगों ने दीया जलाकर  यह साबित कर दिया है कि सभी बिहारी पीएम मोदी के आह्वान पर कोरोना संकट से लड़ने के लिए  हमेशा तैयार हैं।
किसी शायर ने ठीक ही कहा है........

" नक़ाब रुख़ से हटाओ बहुत अंधेरा है, चरागें इश्क़ जलाओ बहुत अंधेरा है."

भारत जीतेगा कोरोना हारेगा।
Read More

वाराणसी में कोरोना संक्रमण से एक व्यक्ति की मौत

April 05, 2020 0

यूपी : वाराणसी में कोरोना संक्रमित 01 व्यक्ति की हुई मौत, राज्य में अबतक 03 कोरोना पीड़ितों की मौत

न्यूज डेस्क/वाराणसी/यूपी 

उत्तरप्रदेश राज्य में अबतक तीन कोरोना पीड़ितों की मौत हो चूकी है। तीसरे मरीज की मौत धर्मनगरी के रुप में प्रसिद्ध सूबे के वाराणसी शहर में शनिवार को हो गई। हालांकि वाराणसी में कोरोना वायरस से संक्रमित यह किसी पहले मरीज की मौत है। मिली जानकारी के अनुसार गंगापुर निवासी 55 वर्षीय एक व्यक्ति को 03 अप्रैल को बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल में उसके परिजनों ने भर्ती कराया था। 04 अप्रैल को चिकित्सकों ने उसके कोरोना संक्रमित होने की पुष्टि की थी।

पूरे यूपी में अबतक कुल 275 लोग कोरोना से संक्रमित

वाराणसी में हुई एक मरीज की मौत के साथ ही यूपी में अब कोरोना संक्रमण से मरने वालों की संख्या तीन हो गई है। बस्ती और मेरठ में इसके पहले एक-एक मरीज की मौत हो चूकी है। पूरे यूपी में कुल 275 लोग कोरोना से संक्रमित हैं। कोरोना से संक्रमित इन सभी मरीजों की चिकित्सा सरकारी स्तर पर मुस्तैदी के साथ युद्ध स्तर पर की जा रही है।
Read More

जदयू एमएलसी दिनेश सिंह से अपराधियों ने मांगी रंगदारी

April 05, 2020 0

जदयू एमएलसी दिनेश सिंह को अपराधियों ने धमकाया, मांगी रंगदारी

न्यूज डेस्क/मुजफ्फरपुर/बिहार

कोरोना संकट को लेकर जारी लॉकडाउन का बिहार के अपराधियों पर कोई असर नहीं है। सूबे में बेलगाम हो चूके अज्ञात अपराधियों ने सत्तारूढ़ जदयू के एमएलसी दिनेश सिंह को मोबाइल पर धमकी दी है। एमएलसी श्री सिंह वैशाली की सांसद वीणा देवी के पति हैं। शनिवार की रात को एमएलसी के मोबाइल पर कॉल कर अपराधियों ने धमकी दी। इतना ही नहीं अपराधियों ने गाली-गलॉज करते हुए उनसे रंगदारी की भी मांग की।

एमएलसी ने सदर थाने में की लिखित शिकायत

इस संबंध में एमएलसी दिनेश सिंह ने सदर थाने में लिखित शिकायत दी है। उन्होंने मुजफ्फरपुर के एसएसपी जयंतकांत, सिटी एसपी नीरज कुमार सिंह एवं टाउन डीएसपी रामनेरश पासवान को भी पूरे घटनाक्रम से आवगत कराया है। यहां बता दें कि हाल के दिनों में बिहार में कई ऐसे मामले सामने आए हैं। जिसमें सीएम नीतीश कुमार एवं दरभंगा के डीएम से जुड़ी धमकी के मामले सामने आ चूके हैं।

कॉल करने वाला कर रहा था अभद्र भाषा का प्रयोग

एमएलसी श्री सिंह के मुताबिक उनके मोबाइल पर शनिवार को दिन में अज्ञात नंबर से कॉल आया। पुनः शाम करीब साढ़े सात बजे उसी नंबर से कॉल आया। कॉल करने वाले ने उनसे रंगदारी मांगी और अभद्र भाषा का प्रयोग करने लगा।

जल्द दबोच लिए जायेंगे अपराधी

मुजफ्फरपुर के सिटी एसपी नीरज कुमार ने इस संदर्भ में बताया कि एमएलसी ने एक मोबाइल नंबर के संदर्भ में शिकायत की है। उन्होंने जानकारी दी है कि कॉल करने वाले ने अभद्र भाषा का प्रयोग किया है। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है। सीटी एसपी ने कहा कि कॉल करके रंगदारी मांगने वाले अपराधियों को पुलिस जल्द दबोच लेगी।
Read More

Saturday, April 4

सारण के गड़खा में आग लगने से 05 एकड़ में लगी गेहूं की फसल जलकर राख

April 04, 2020 0


छपरा : गड़खा में भीषण आगलगी, 05 एकड़ में लगी गेहूं की फसल जलकर राख

न्यूज डेस्क/छपरा/बिहार

बिहार के सारण जिले में आज दोपहर आगलगी की एक बड़ी घटना हुई है। यहां के गड़खा अंचल क्षेत्र के रहमपुर-बैकुंठपुर गांव के सरेह में आज दोपहर अचानक आग लग गई। देखते ही देखते आग की लपटों ने खेत में लगी गेहूं की करीब पांच एकड़ तैयार फसल को अपने चपेट में ले लिया। आग की लपटों को देखकर भारी संख्या में ग्रामीण मौके पर जुट गये और आग बुझाने का प्रयास शुरु कर दिया। लेकिन तब तक फसलें जलकर राख हो गई।

सीओ ने अग्निपीड़ितों को दिया हर संभव सहायता का आश्वासन

आगलगी की सूचना दिए जाने के कुछ घंटे बाद स्थानीय प्रसासन की ओर से मौके पर अग्निशमन दस्ते को भेजा गया तबतक सब कुछ स्वाहा हो गया था।
मौके पर पहुंचे गड़खा के अंचलाधिकारी मोहम्मद ईस्माइल एवं दारोगा गणेश प्रसाद ने अग्निपीड़ितों को हर संभव सरकारी सहायता दिलाने का आश्वासन दिया। फिलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चल सका है। अग्निपीड़ितों में राजन राय, हरेंद्र साह, चंदेश्वर सिंह, बृजराज सिंह, राजेश राय एवं मोतीलाल पंडित सहित अन्य किसान शामिल हैं। खेत में लगी तैयार फसल जलकर राख हो जाने से प्रभावित सभी किसान मायूस हो गये हैं। उन्हें अपने भविष्य की चिंता सता रही है।
Read More

पटना के IGIMS में कोरोना जांच का इंतजार कर रही महिला ने दम तोड़ा

April 04, 2020 0

बड़ी लापरवाही : पटना के IGIMS में कोरोना जांच का इंतजार कर रही महिला ने दम तोड़ा

न्यूज डेस्क/पटना/बिहार

कोरोना संकट के बीच इस वक्त की बड़ी खबर बिहार की राजधानी पटना से मिल रही है। यहां आईजीआईएमएस की घोर लापरवाही से अपनी कोरोना जांच का सैंपल लिए जाने का इंतजार कर रही एक वृद्ध महिला की मौत हो गई है। उक्त वृद्ध महिला पिछले कई दिनों से IGIMS के मेडिसिन विभाग में भर्ती थी। महिला को सांस लेने में तकलीफ की शिकायत थी। बीमारी का लक्षण देख अस्पताल प्रबंधन द्वारा उसे कोरोना का संभावित मरीज माना जा रहा था। अस्पताल के चिकित्सक ने तीन दिन पहले ही उसकी कोरोना की जांच के लिए लिखा था। अस्पताल प्रबंधन ने समय रहे महिला की जांच नहीं कराई और अंततः शनिवार की सुबह महिला की मौत हो गई।

महिला की मौत के बाद परिजनों ने किया हंगामा

वृद्ध महिला की मौत के बाद परिजनों ने अस्पताल में खूब हंगामा किया। परिजन IGIMS प्रबंधन पर महिला के इलाज में बड़ी लापरवाही बरतने का आरोप लगा रहे थे। मालूम हो कि पटना के IGIMS के मेडिसिन वार्ड में इलाजरत पालीगंज की रहनेवाली 70 वर्षीया ललिता देवी को बुधवार से सांस लेने में तकलीफ थी। चिकित्सक ने उसकी कोरोना जांच कराने के लिए लिखा था। बुधवार से ही महिला के घरवाले उसकी कोरोना जांच में हो रही देरी को लेकर परेशान थे।

बुधवार को अस्पताल में भर्ती हुई थी महिला

मृतका के परिजनों ने बताया कि ललिता देवी को बुधवार की सुबह आठ बजे IGIMS में दाखिल कराया गया था। अस्पताल प्रबंधन ने उसे मेडिसिन विभाग में भेज दिया। 24 घंटे तक कोरोना की जांच के इंतजार में ललिता देवी बेड पर पड़ी रहीं। एक तरफ अस्पताल के निदेशक डॉ.एन.आर. विश्वास का कहना था कि कोरोना की जांच नहीं होगी। वहीं दूसरी तरफ अस्पताल के अधीक्षक डॉ.मनीष मंडल का कहना था कि कोरोना की जांच होगी। उहापोह की स्थिति और अस्पताल की घोर लापरवाही के कारण आखिरकार आज सुबह महिला ने दम तोड़ दिया।
Read More